NA KHELO MERE DIL SE

ना खेलो मेरे अरमानो से, मेरे जज़्बातों से,
मेरे उदास दिनों से, मेरी सुनसान सियाह रातों से,

मुझे आदत सी पड़ गयी है रूखेपन की,
ना उलझायो मुझे प्यारी और मदहोश बातों से।

कुछ नहीं होगा, रहने दो मुझे तन्हा ओ बेज़ार,
ना ललचाओ माज़ी की सुहानी मुलाकातों से।

ज़िन्दगी सेहरा बन गयी है, और तुम अभी भी,
दिल की धरती सींच रहे हो कल की बरसातों से

मेरा कोई दोस्त, हमसफर, महबूब नहीं है,
ना बांधो मुझे झूठे रिश्तों से, फरेबी नातों से।

गमों के, अश्क़ों के, तनहाईयों के ख़ज़ाने दिए बेहद,
अब और ना बहलाओ वादा – ए – सौगातों से।

ज़मीन से आसमान, आसमानो से ज़मीन पे पटका यकायक,
हैरान रह गया हूँ तुम्हारी जादूगरी करामातों से।

हर सितम सहते रहे, तेरी बेवफाई का सनम,
आह भी ना निकली तेरा नाम गुनगुनातों से ।

Naa khelo mere armaano se, mere jazbaaton se,
Mere udaas dinon se, meri sunsaan siyah raaton se.

Mujhe aadat si padh gayi hai rukhepan ki,
Naa uljhaao mujhe pyaari aur madhosh baaton se.

Kuchh nahin hoga, rehane do mujhe tanha aur bezaar,
Naa lalchaao maazi ki suhaani mulaqaaton se.

Zindagi sehra ban gayi hai, aur tum abhi bhi,
Dil ki dharti seench rahe ho kal ki barsaaton se.

Mera koi dost, hamsafar, mehboob nahin hai,
Naa baandho mujhe jhhote rishton se, farebi naaton se.

Gamon ke, ashqon ke, tanhaayiyon ke khazane diye behadd,
Ab aur naa behlaayo waada-e-saugaaton se.

Zamin se aasman, aasmaanon se zamin pe patka yakayak,
Hairaan reh gaya hoon tumhaari jadugari karamaaton se.

Har sitam sehte rahe, teri bewafai ka sanam,
Aah bhi na nikali tera naam gungunaato se.

 

© 2017, Sunbyanyname. All rights reserved.

You may also like

4 Comments

Your comments add value to the posts; so go ahead, tell me what you feel.