KUCHH SOYE HUYE ARMAAN

आधी रात को जब उसने बुलाया “honey”,
बढ़ गयी तुरंत मेरी diabetes;
सांस का तेज हो जाना स्वाभाविक था,
दिल की धड़कन भी हो गयी increase.

सब कुछ बढ़ चढ़ के उछाले मारने लगा,
एक brain ही था जो हो गया था seize.
पैंतीस साल हो गए हमारी शादी को,
अभी भी हूँ मैं प्यार का मरीज़ I

गर्मा गर्मी में वो अरमान भी जाग उठे,
जो कल तक लेटे थे होके freeze.
आज तक कभी हिम्मत न हुई थी,
पर अब हमें भी जोश आ गया, please.

और हमने बढ़े इश्किया आवाज़ में  कहा:
कल देखेंगे, अब न करो हमें tease.
वो बोली: “खिड़की बंद करने के लिए जगाया था,
और तुम क्या समझे थे, बद्तमीज़?”

“मुझे खूब पता है तुम्हारी काबलियत का,
पुराने जोड़ो में अब नहीं है grease.”
बुढापा आ गया, हमने अंदाज़ ऐ ग़म में सोचा,
छूट गयी हमसे जवानी की दहलीज़।

एक ज़माना था बंद खिड़किया खोल देते थे हम,
अब बोलती बंद है, हम बने हैं नाचीज़।
काश कहीं से जवानी वापिस आ जाए,
और बन जाए मेरी मुस्तक़िल अज़ीज़ I

© 2017, Sunbyanyname. All rights reserved.

You may also like

6 Comments

  1. Really near to actuals. Hits it where it hurts.ਆਪ ਜੀ ਦੀ ਕਲਮ ਨੂੰ ਹੋਰ ਤਾਕਤ ਆਵੇ। Best wishes.

Your comments add value to the posts; so go ahead, tell me what you feel.